मध्यप्रदेश प्रसूति सहायता योजना 2020: गर्भवती महिलाओं को सरकार दे रही 16000 रूपये – जानिए आवेदन की पूरी प्रक्रिया

मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना पंजीकरण, MP Prasuti Sahayata Yojana Application Process In Hindi, एमपी प्रसूति सहायता स्कीम आवेदन फॉर्म, Prasuti Sahayata Scheme In Hindi, मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा (प्रसूति सहायता) योजना 2020 ऑनलाइन आवेदन

गर्भवती महिलाओं की आर्थिक मदद करने के लिए मध्यप्रदेश सरकार के द्वारा इस योजना को शुरू किया गया है ।

MP Prasuti Sahayata Yojana 2020
MP Prasuti Sahayata Yojana 2020

MP Prasuti Sahayata Yojana 2020

मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा इस योजना को 2018 में शुरू किया गया है इस योजना के अंतर्गत आर्थिक रूप से गरीब श्रमिक वर्ग की गर्भवती महिलाओ को आर्थिक मदद देने के लिए शुरू की गयी है ताकि बच्चा का जन्म हो तो वो पूरी तरह से सुरक्षित व स्वस्थ हो इसलिए मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा Prasuti Sahayata Yojana 2020 के अंतर्गत गर्भवती महिलाओ को गर्भावस्था के दौरान 16000 रूपये की आर्थिक वित्तय सहायता दी जाती है अगर आप भी इस योजना के अंतर्गत अपना पंजीकरण करवाकर मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना 2020 का लाभ लेना चाहते है तो उसके लिए सबसे पहले आपको इस योजना में ऑनलाइन आवेदन करवाना होगा उसके बाद इस योजना का लाभ महिलाओ के बैंक अकाउंट में भेज दिया जायेगा ।

योजना का नामप्रसूति सहायता योजना
इनके द्वारा शुरू की गयीमध्य प्रदेश सरकार द्वारा
लॉन्च की तारीक1 अप्रैल 2018
सहायता धनराशि16000 रूपये
लाभार्थीराज्य की श्रमिक गर्भवती महिलाये

मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना 2020 रजिस्ट्रेशन

मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना 2020 का लाभ वो गर्भवती महिलाये ले सकती है जो आर्थिक रूप से गरीब है और श्रमिक वर्ग से आती है इसलिए मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा के गर्भवती महिलाओ को गर्भावस्था के दौरान स्वास्थ्य सबंधित जरुरतो को पूरा करने के लिए प्रदेश सरकार के द्वारा वित्तय सहायता दी जाती है ताकि महिला गर्भावस्था के दौरान अपना व अपने बच्चे का स्वास्थ्य सबंधित ध्यान रख सके । इस योजना के अंतर्गत महिलाओ को 16000 रूपये की सहायता राशि दी जाती है जो दो किस्तों के रूप में महिलाओं को दिए जाते है पहली क़िस्त 4000 रूपये की जाती है जो गर्भवती महिलाओ को स्वास्थ्य सबंधित 4 जाँच करवाने के बाद दिए जाते है जो महिला के बैंक अकाउंट में भेजे जाते है इसी तरह दूसरी क़िस्त 12,000 रूपये की चिकित्सालय में प्रसव होने के बाद शिशु का जन्म प्रमाण पत्र में नाम लिखवाने के बाद महिलाओ के बैंक अकाउंट में भेजी जाती है।

मध्य प्रदेश प्रसूतिसहायतायोजना 2020 का उद्देश्य

हमारे देश में बहुत से ऐसे परिवार है जो मजदुर वर्ग आते है जो आर्थिक रूप से बहुत ही कमजोर होते है ऐसी स्थिति में मजदुर वर्ग की महिलाये गर्भावस्था के दौरान अपना व पेट में पल रहे बच्चे का ध्यान अच्छी तरह से नही रख पाती है व पैसे की कमी के कारण समय समय पर जो स्वास्थ्य सबंधित जाँच करवानी होती है वो भी नही करवा पाती है व गर्भावस्था के दौरान जो उचित खाना पीना करना होता है वो भी नही कर पाती है जिसके कारण महिला व बच्चा के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है जिसके कारण बच्चा जन्म के समय सुरक्षित व स्वस्थ पैदा नही होता है जिसके कारण शिशु मृत्यु दर में भी बढ़ोतरी हो रही है ।

इसी को देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा गरीब मजदुर वर्ग महिलाओ को गर्भावस्था के दौरान आर्थिक मदद करने के लिए प्रसूति सहायता योजना शुरू की गयी है इस योजना के जरिये 16000 रूपये की आर्थिक मदद दी जाएगी ताकि महिला गर्भावस्था के दौरान अपनी स्वास्थ्य सम्बन्धी ध्यान रख सके जिससे जन्म के समय प्रसव स्वस्थ व सुरक्षित पैदा हो जिससे शिशु मृत्यु दर में भी कमी आयेगी ।

Madhya Pradesh Prasuti Sahayata Yojana 2020 में 16000 रूपये का लाभ कैसे मिलेगा?

  • पहली किस्त – इस योजना के अंतर्गत महिला को 16000 रूपये की वित्तीय सहायता दी जाती है जो दो किस्तों के रूप में दी जाती है जिसमे पहली क़िस्त महिला को 4000 रूपये की दी जाती है जो महिला को गर्भावस्था के दौरान समय समय पर हॉस्पिटल में जाकर प्रसव की 4 जाँच करवाने के बाद दी जाती है ।
  • दूसरी किस्त – महिला को शासकीय चिकित्सालय में प्रसव होने के बाद नवजात शिशु का नामकरण करने के बाद एचबीवी टीकाकरण VCG, Zero Dose ,OPD and HBV Vaccination करवाने के बाद दूसरी क़िस्त 12 हजार रूपये महिला के बैंक अकाउंट में भेज दिए जायेंगे ।

प्रसूति सहायता योजना 2020 के लाभ:-

इस योजना का लाभ उन्ही गर्भवती महिलाओ को दिया जायेगा जो मजदुर वर्ग से आती है और आर्थिक रूप से कमजोर है।

  • प्रसूति सहायता योजना के अंतर्गत महिलाओ को 16000 रूपये की वित्तीय सहायता दी जाती है जिसमे 4000 रूपये की सहायता प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार के द्वारा दी जाती है बाकी शेष राशि मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा दी जाती है ।
  • इस योजना के अंतर्गत मिलने वाला लाभ महिला के बैंक अकाउंट में भेजा जायेगा इसलिए गर्भवती महिला का बैंक अकाउंट किसी राष्ट्रीयकृत बैंक में होना चाहिए व बैंक अकाउंट आधार कार्ड से वेरीफाई किया हुआ होना चाहिए मतलब बैंक अकाउंट आधार कार्ड से लिंक होने चाहिए ।
  • इस योजना का लाभ ग्रामीण क्षेत्र व शहरी क्षेत्र में निवास करने वाली सभी मजदुर वर्ग की महिलाओ को दिया जायेगा ।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए महिला को उम्र 18 वर्ष से कम नही होनी चाहिए ।

एमपी प्रसूति सहायता योजना 2020 में आवेदन करने के लिए जरूरी दस्तावेज (पात्रता):-

इस योजना का लाभ लेने के लिए महिलाये मध्य प्रदेश की स्थाई निवासी होनी चाहिए ।

  • आवेदनकर्ता महिला का आधार कार्ड ।
  • पहचान पत्र ।
  • आयु प्रमाण पत्र ।
  • निवास प्रमाण पत्र ।
  • बैंक अकाउंट ।
  • प्रेग्नेंसी रिपोर्ट के तहत पहली क़िस्त के प्राप्त करने के लिए ।
  • डिलीवरी सबंधित जरूरी कागजात मातृत्व एवं शिशु सुरक्षा कार्ड दूसरी क़िस्त प्राप्त करने के लिए ।
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो ।
  • मोबाइल नंबर ।

प्रसूति सहायता योजना 2020 में आवेदन कैसे करें?

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए आप अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र एवं परिवार कल्याण विभाग में जाना होगा।
  • वहां पर जाने के बाद आपको इस योजना से सबंधित आवेदन फॉर्म लेना है और उसमे पूछी गयी सभी जानकारी सावधानीपूर्वक भरना होगा साथ में उपर बताये गये डॉक्यूमेंट लगाने होंगे ।

Leave a Comment