मध्यप्रदेश सरकार किसानों को सीधा लाभ देने के लिए खुद की फसल बीमा कम्पनी बनाएगी – जानिए आवेदन का तरीका

मध्यप्रदेश सरकार की बड़ी घोषणा – खुद की फसल बीमा कम्पनी बनाएंगे PM Kisan News MP PM Kisan Fasal Bima Yojana

MP PM Kisan Fasal Bima Yojana Latest News
मध्यप्रदेश सरकार की बड़ी घोषणा – खुद की फसल बीमा कम्पनी बनाएंगे PM Kisan News

MP PM Kisan Fasal Bima Yojana 2020 Latest Update

हमारे देश में कई ऐसी कम्पनिया है जो देश भर में बीमा क्षेत्र में काम कर रही है। उसी में एक है फसल बीमा योजना जिसमे किसानों को उनकी फसल बर्बाद होने पर बीमा कम्पनिया के द्वारा मुआवजा दिया जाता है। लेकिन बहुत बार कम्पनिया मुआवजा देने में आनाकानि करती है या मुआवजा कम देती है जिससे किसानों को बर्बाद हुई फसल का मुआवजा बहुत कम मिलता है जिससे किसानों के नुकसान की भरपाई नहीं हो पाती है।

इसलिए फसल बीमा कम्पनियो की मुनाफाखोरी को रोकने के लिए मध्यप्रदेश सरकार ने अपनी खुद की फसल बीमा कम्पनी बनाने की घोषणा कर दी है। जिससे किसानों को बर्बाद हुई फसल का सही मुआवजा दिया जा सके।

प्रधान मंत्री किसान ट्रेक्टर योजना: किसानों को आधी कीमत पर मिलेगे ट्रेक्टर ऐसे करें आवेदन

मध्यप्रदेश सरकार बना रही खुद की फसल बीमा कम्पनी:-

फ़िलहाल जो प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना चल रही है जो एक प्रीमियम प्लान योजना है। इस योजना के तहत प्रीमियम भारत सरकार के द्वारा निजी क्षेत्र की कम्पनियो को दे दिया जाता है। जिससे निजी क्षेत्र की कम्पनिया अपनी मनमर्जी के हिसाब से ही किसानो को मुआवजा देती है। जिससे किसानों को नुकसान की भरपाई नहीं हो पाती थी। इसलिए मध्यप्रदेश सरकार ने किसानों के हित को को देखते हुए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपनी खुद की फसल बीमा कम्पनी बनाने की घोषणा की है।

इसके लिए शिवराज सरकार ने ड्राफ्ट भी पूरी तरह से तैयार भी कर लिया है अब ड्राफ्ट पर मुहर लगनी बाकी है उसके लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने एक अहम बैठक बुलाई है।

60 हजार किसानों के खाते में PM Kisan Scheme के पैसे नही आये – जानिए क्यों

निजी क्षेत्र की कम्पनिया कर रही है मुनाफाखोरी:-

फसल बीमा योजना का लाभ उन किसानों को दिया जाता है जिनकी फसल प्राकृतिक आपदा के कारण खराब हो जाती है तो उन किसानों को इस योजना के तहत मुआवजा दिया जाता है। इस योजना के अंतर्गत मुआवजा लेने के लिए पहले किसानों को एक प्रीमियम प्लान भरना होता है जो कम्पनियो के द्वारा निर्धारित किया जाता है।

इसी के अनुसार  2016-17 में 74 लाख किसानों ने फसल बीमा योजना के तहत  3804 करोड़ रूपये का प्रीमियम भरा था। जिसमे से बीमा कम्पनियो के द्वारा किसानो को सिर्फ 2039 करोड़ रूपये का क्लेम ही किया गया था।

इसी के अनुसार 2018-19 में 73 लाख किसानो ने 5588 करोड़ रूपये का प्रीमियम भरा था। जिसमे से किसानों को 812 करोड़ रूपये का ही मुआवजा दिया गया था। और बात करे इसी साल की तो 2019-20 में 34 लाख किसानों के द्वारा 2345 करोड़ रूपये का प्रीमियम भरा गया है। जिसमे से अभी तक किसी भी किसानों को मुआवजा नहीं दिया गया है जो बकाया बताया जा रहा है।

लेटेस्ट सरकारी योजना न्यूज हिंदी मेंक्लिक करें
सभी सरकारी योजनाक्लिक करें

Leave a Comment